ओलम्पिक 2021 में क्या है खास , एक नजर ओलम्पिक खेलों पर

Share

“खेलो के महाकुंभ” ओलम्पिक 2021 में क्या है खास

ओलम्पिक की शुरुआत यूनान की राजधानी एथेंस में सन् 1896 में हुई थी। 1896 में हुए ओलम्पिक में 14 देशों ने भाग लिया था। जिसमे 9 खेलो को खेला गया था। यह एक मल्टी स्पोर्ट इवेंट है, जो चार साल में किसी शहर द्वारा आयोजित किया जाता है। भारत ने ओलम्पिक की शुरुआत पहली बार ग्रीष्मकालीन (समर) ओलम्पिक 1920 में और शीतकालीन (विंटर) ओलम्पिक 1964 मे हुई थी। तब से भारत लगातार ओलम्पिक खेलों में भाग लेते आ रहा है।

सन् 1920 से 1980 तक ओलम्पिक खेलों में भारतीय हॉकी टीम का दबदबा बना रहा। इस बीच हुए 12 मैचों में भारत ने 11 पदक जीते है। 1928 से 1956 तक भारत ने लगातार 6 स्वर्ण पदक जीते है। 2016 शीतकालीन ओलंपिक शुरू होने तक भारत के खाते में 26 पदक थे। 2016 में हुए ओलंपिक में भारत ने दो पदक जीता था। अभी भारत के खाते में 28 पदक है, जिसमे 9 स्वर्ण पदक, 7 रजत पदक, और 12 कास्य पदक सामिल है।

चौथी बार देर से होगा ओलंपिक का आयोजन

Olympic 2021

अगले ओलंपिक का आयोजन 2020 में होना था लेकिन कोरोना महामारी के कारण एक साल के लिए टालना पड़ा। अब यह 23 जुलाई 2021 से जापान के टोक्यो शहर में इसका आयोजन और 8 अगस्त को इसका समापन होगा। इस बार के टोक्यो ओलम्पिक का से मैस्कोट “मिराईतोवा” है। मिराईतोवा जापानी कहावत से प्रेरित है। जापानी शब्द मिराईतोवा में “मिराई” का अर्थ “भविष्य” और “तोवा” का अर्थ “अनंत”काल होता है। ऐसा चौथी बार होगा जब ओलम्पिक अपने तय समय पर नही हो पाया, इससे पहले यह खेल प्रतियोगिता पहले व दूसरे विश्व युद्ध के वजह से नही हो पाए थे। लेकिन यह सवाल उठ रहा है की क्या 2021 में टोक्यो में होने वाले ओलम्पिक खेल प्रतियोगिता सामान्य रूप से हो पाएंगे।

कोविड– 19 के कारण हुए नियमों में बदलाव

जापान में आयोजन के लिए ओलंपिक कमेटी ने कई उपाय और सवधानिया बरतने का दावा किया है। और उम्मीद जताई है की ओलम्पिक के आयोजन में कोई दिक्कत नही होगी। उन्होंने ओलंपिक में सामिल होने वाले वाले खिलाड़ियों, अधिकारियों व दर्शकों के लिए 33 पेज का रूल बुक जारी किया है। जिसमे सभी दिसा निर्देश दिए गए है ।

  • खिलाड़िओ को 14 दिन के क्वारंटीन के बजाए सीधे ट्रेनिंग सेंटर जाने की अनुमति होगी। हालाकि उनके पास कोरोना टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट होना जरूरी होगा।
  • भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों का रोजाना कोविड जांच होगी।
  • विदेशी प्रसंशको के लिए टोक्यो ओलम्पिक केवल टी वी और इंटरनेट तक सीमित रहेगा। जबकि स्थानीय लोग स्टेडियम में जाके सभी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए इस खेल का आनंद उठा सकते है।
  • खिलाड़िओ का टूरिस्ट वाली जगहों जैसे रेस्टोरेंट, बार, आदि में जाने पर प्रतिबंध रहेगा।
  • इस बार अंतरराष्ट्रीय वेलेंटियर भी नही आ सकते है।
  • दर्शक समर्थन दिखाने के लिए गाना या नारेबाजी के बजाए सिर्फ ताली बजाएंगे ।

खेलो में बदलाव

  • टेबल टेनिस में मिक्स डबल होगा।
  • वाटर पोलो में पहले 8 महिला टीमें थी, जिस बढ़ाकर 10 कर दिए गए है।
  • रोइंग में पुरुषो के चार इवेंट हटा दिए गए है जबकि महिलाओं के चार इवेंट बढ़ा दिए गए है।
  • बॉक्सिंग में महिला खिलाडियों की संख्या को तीन से बढ़ाकर पाच कर दिया गया है जबकि पुरुष खिलाड़िओ की संख्या को 10 घटाकर 8 कर दिया गया है।
  • जूडो में भी इस बार मिक्स टीम इवेंट रहेगा।
  • इस बार के ओलंपिक में पाच अन्य खेलो को भी सामिल किया गया है जिसमे — बेसबॉल, सफ्टबोल, स्केटबोर्ड, सार्फिंग, और कर्राटटे सामिल है।

2021 ओलंपिक के लिए कितने खिलाड़िओ ने किया क्वालीफाई

भारत के अबतक 90 से जादा खिलाड़ियों ने ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है। जिसमे — कुस्ती में 8, शूटिंग में 16, बॉक्सिंग में 9 और हॉकी में महिला व पुरुष दोनों टीमों ने क्वालीफाई कर लिया है। भारत के ओलम्पिक कमेटी ने कोरोना वायरस के खिलाफ सावधानी बरतने के लिए सभी भाग लेने वाले खिलाड़ियों को वैक्सिन का पहला डोज व कुछ खिलाड़ियों को दूसरी डोज तक लगवा दिया गया है।

हम सब को पूरी उम्मीद है की इस बार क्वालीफाई हुए खिलाड़ी जादा से जादा जीत कर आयेंगे।

 12 Views

Leave a Comment