मुक्केबाज लवलीना ने बीएफआई पर लगाया मानसिक प्रताड़ना का आरोप

Share

ओलंपिक पदक विजेता लवलीन का आरोप, कोच को किया खेल गांव से बाहर

टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने वाली मुक्केबाज ललिना बोरगोहाई ने भारतीय मुक्केबाज संघ (बीएफआई ) उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। मुक्केबाजी टीम आयरलैंड में ट्रेनिंग करने के बाद रविवार देर रात बर्मिंघम पहुंची, लेकिन एक्रीडिटेशन नहीं होने के कारण उनकी निजी कोच संध्या गुरुंग को खेलगांव में प्रवेश नहीं मिला।

जिसके बाद मुक्केबाज लवलीना बोरगोहाई ने लंबा चौड़ा ट्वीट करते हुए लिखा” मैं बड़े दुख के साथ कह रही हूं कि मेरे साथ बहुत उत्पीड़न हो रहा है हर बार मेरे कोच जिन्होंने मुझे ओलंपिक में पदक दिलाने में मेरी मदद की उन्हें बार-बार हटाकर मेरी ट्रेनिंग प्रक्रिया को बाधित करते हैं तथा प्रतियोगिता में उत्पीड़न करते हैं इनमें से एक कोच संध्या गुरुंग जो द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित भी हैं। मेरे दोनों कुछ को हजार बार हाथ जोड़ने पर बहुत देर से कैंप में भी ट्रेनिंग के लिए शामिल किया जाता है।

images 2 2
मुक्केबाज लवलीना बोरगोहाई

मुझे इससे ट्रेनिंग में बहुत परेशानी उठानी पड़ती है और इससे मै मानसिक रूप से प्रताड़ित होती हूं। कोच संध्या गुरुंग को खेल गांव में प्रवेश नहीं मिल रहा है, मेरी ट्रेनिंग प्रक्रिया रुक गई है मेरे दूसरे कोच को भी भारत वापस भेज दिया गया है। मेरी इतनी अपील के बाद भी यह सब हुआ। मैं मानसिक रूप से प्रताड़ित भी हुई अब मैं खेल पर कैसे ध्यान केंद्रित करू। इसके कारण मेरी विश्व चैंपियनशिप भी खराब हुई। और अब मैं कॉमनवेल्थ गेम्स खराब नहीं करना चाहती हू। आशा करती हूं कि मैं मेरे देश के लिए इस राजनीतिक तोड़कर पदक ला पाऊं। जय हिंद।”

ट्विट के बाद खेल मंत्रालय फौरन एक्शन में आया और ट्वीट कर जानकारी दी कि हमने भारतीय ओलंपिक एसोसिएशन(आईओए) को कहा है कि लवलीना के कोच को टीम में शामिल करने को लेकर फौरन कदम उठाए जाए। भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने सफाई देते हुए कहा की मुक्केबाजी के मामले में स्टाफ की भूमिका थोड़ी अलग रहती है। क्योंकि विभिन्न बाउट होती है बीएफआई, आईओए के साथ मिलकर काम कर रहा है, जिससे कोच संध्या गुरुंग बर्मिंघम में टीम का हिस्सा बन सके। आईओए ने कॉमनवेल्थ गेम्स के आयोजन समिति से कोच को मान्यता देने की अपील की है। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और भारतीय खेल प्राधिकरण इस मामले पर पैनी नजर बनाये हुए है।

इसे भी पढ़ें – राष्ट्रमंडल खेलों का आगाज

कामनवेल्थ गेम्स में दो दिन का समय शेष

राष्ट्रमंडल खेलों में महज दो दिन का समय शेष रह गया है। विदित हो की राष्ट्रमंडल खेल 28 जुलाई से शुरू होकर 8 अगस्त तक चलेगा। जिसकी तैयारिया पूरी कर ली गई है, और इंग्लैंड के बर्मिंघम शहर में अलग-अलग देशों से खिलाड़ियों का आना भी शुरू हो गया है।

images 1 2
Hindustan

वही बात करे भारत के खिलाड़ीओ की तो भारत की तरफ से भारतीय महिला क्रिकेट टीम के साथ एथलेटिक्स, स्क्वैश, टेबल टेनिस समेत बाकी टीम भी बर्मिंघम चुकी है। और प्रैक्टिस भी शुरू कर दिया है। हमें उम्मीद है कि हमारे खिलाड़ी ज्यादा मेडल जीतेंगे।

 77 Views