Twitter निर्णायक मोड़ पर पहुँचा सरकार- टि्वटर के बीच टकराव…

Share

उपराष्ट्रपति, भागवत सहित कई वरिष्ठ नेताओं के अकाउंट से हटाया ब्लू टिक

नई दिल्ली :- ट्विटर और केंद्र सरकार के बीच टकराव अब नाजुक मोड़ पर पहुंच गया है। सूचना तकनिकी अधिनियम (आईटी एक्ट ) के तहत नये नियमों का पालन न करने पर अंजाम भुगतने की चेतावनी देते इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रोद्योगिकी मंत्रालय ने ट्विटर को आखिरी नोटिस भेजा है। ट्विटर को आज भेजे गये इस इस नोटिस में कहा गया है कि मंत्रालय को इस बात से निराशा हुई है कि 28 मई और 2 जून को मंत्रालय को दिए अपने जवाब में न तो आपने मंत्रालय की ओर से मांगा गया स्पष्टीकरण दिया है और न ही नियमों को मानने के प्रति कोई प्रतिबद्धता दिखाई है। आपके जवाब से स्पष्ट है कि ट्विटर ने अभी तक नये नियमों के आधार पर अनिवार्य चीफ कम्प्लायंस ऑफिसर के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। साथ ही आपके द्वारा नामित रेजिडेंट ग्रिवेन्स ऑफिसर और नोडल कॉन्टैक्ट पर्सन भारत में ट्विटर के कर्मचारी नहीं है। आपके द्वारा दिया गया ट्विटर के दफ़्तर का पता भी एक भारतीय लॉ फर्म का है।

Leave a Comment