कोरोना 2.O खान मार्केट,

Share

प्राण वाहिनी के दलाल, लोगों की सांसे बेचने को तैयार, यहाँ तो सांसों का कारोबार, खान मार्केट का हिजाब !

दिल्ली का खान मार्केट अपने रेस्तरां के लिए जाना जाता है, देश दुनिया का बड़ा से बड़ा चेहरा यहाँ अपने मनपसंद डिश और लजीज खानों के चटखारे लेता दिखाई दे जाता है।

फिर ऐसा क्या हुआ की लोगों की भूख मिटाने वाले ही लोगों के सांसों के सौदागर बन गए, क्या है पूरा मामला,

दरअसल 6 मई को जाब लाखों लोग कोरोना महामारी और ऑक्सीजन के कमी से दम तोड़ रहे थे और भारत पूरी ताकत से ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने में लगा था, उस वक्त खान मार्केट के खाना (रेस्तरां) वाले, लोगों के मजबूरी का फायदा उठाकर ऑक्सीजन के कालाबाजारी में लगे थे।

जब पुलिस ने इन्हें धरा तो ये इधर-उधर भागने लगे लेकिन जब पुलिस इन्हें पकड़ने में कामयाब हो गई तब पता चला, ये लोग चीन से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मंगवाकर लोगों को ऊंचे दामों में बेचते थे। पहले दिन जिन लोगों को पुलिस ने पकड़ा उनमें खान चाचा रेस्तरां के चार लोग गौरव, सतीश, विक्रांत और हितेश हैं, इनके पास से कुल 419 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किए गए।

1.ऑक्सीजन कंसंट्रेटर,

यह वायुमंडल में उपस्थित हवा को लेकर उसमें से नाइट्रोजन और ऑक्सीजन एवं अन्य गैसों को पृथक कर अलग कर देता है । इसे PSA प्लांट का सूक्ष्म रूप कहा जा सकता है जिस प्रकार ऑक्सीजन के PSA प्लांट में वायुमंडल में उपस्थित हवा को लेकर उसमें उपस्थित नाइट्रोजन, ऑक्सीजन और अन्य गैसों तथा सूक्ष्म कणों को एक खास तरह के केमिकल कंपाउंड का इस्तेमाल करके पृथक कर लिया जाता है,जिसका नाम Zeolite Molecular Sieves ( ZMS) है। इससे पृथक ऑक्सीजन को एक खास तरह के टैंक में एकत्रित कर लिया जाता है।

अब इसे इस्तेमाल के लिए अस्पतालों और उद्योग को भेजा जाता है लेकिन ऑक्सीजन कंसंट्रेटर सिर्फ चिकित्सकीय उपयोग के लिए बनाया गया है जिसका इस्तेमाल विभिन्न अस्पतालों में किया जाता है, खान मार्केट में इसी कंसंट्रेटर का ब्लैक मार्केटिंग कर रहा था यह गिरोह।


Leave a Comment