India is preparing to win against dengue | भारत कर रहा डेंगू से जीत की तैयारी

Share

भारतीय वैज्ञानिकों ने ढूंढी डेंगू की दवा

वैश्विक महामारी कोरोना का तोड़ निकालने के बाद, भारतीय वैज्ञानिकों ने डेंगू को भी मात देने की तयारी कर ली है। बरसात आते ही लोगो को डेंगू का खतरा सताने लगता है। हर साल लाखों लोगो को प्रभावित करने वाले डेंगू का दवा भारतीय वैज्ञानिकों ने गहन शोध के बाद ढूंढ ली है। केंद्रीय औषधि एवं अनुसंधान संस्था (सीडीआरआई ) के वज्ञानिको ने बताया की दो ड्रग डेंगू के इलाज में कारगर पाए गए है। सौ चूहों पर इस ड्रग का ट्रायल भी किया गया है। जिससे डेंगू मरीजों का सटीक इलाज होने की उम्मीद जागी जा रही है। हालाकि अभी तक इस ड्रग का ट्रायल मनुष्यो पर नही किया गया है। लेकिन इसकी तैयारी भी चल रही है।

सीडीआरआई के निदेशक प्रोफेसर तपस कुंडू के अनुसार यह दवाएं dengue मरीजों पर भी पूरी तरह कारगर होगी।ह्यूमन ट्रायल के बाद दवा को पेटेंट कर जल्द बाजार में उतारा जाएगा। ह्यूमन ट्रायल की प्रक्रिया तेजी से चल रही है, क्योंकि इस समय कोरोना के कहर के साथ साथ देश के विभिन्न राज्यों और शहरों में डेंगू का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है।

हालाकि पेटेंट प्रक्रिया पूरी न होने के कारण अभी दोनो ड्रग के नाम का खुलासा नही किया जा सकता है। फिलहाल यह दवाएं थ्रोबोंसिंस व स्ट्रोक के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल की जा रही है। ये दवाएं नसो में खून के थक्के नही जमने देती है।

क्या है डेंगू के लक्षण

डेंगू के लक्षणों में सिरदर्द,तेज बुखार, चकत्ते, मांशपेसीयो और जोड़ों का दर्द सामिल है। बीमारी गंभीर होने पर रक्तस्राव और सदमे की स्थिति भी आ सकती है। इसमें प्लेटलेट का स्तर भी तेजी से कम होने लगता है। यह एंडीज मच्छरों के काटने से होता है।

एक नजर बढ़ते डेंगू मारिजो पर

कोरोना खतरे के बीच देश में dengue का आतंक भी देखने को मिल रहे है। देश की राजधानी दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश,समेत कई राज्यों में dengue के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। प्रशासन के सामने दोहरी चुनौती खड़ी हो गई हैं। बात करे उत्तर प्रदेश की तो उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले में अब तक 450 से ज्यादा मरीजों का इलाज चल रहा है, वही 61 लोगो की मौत भी हो चुकी है। जबकि कानपुर में108 मरीज व उन्नाव में 34 मरीज पाए गए है। कोरोना के बाद अब dengue देश में पैर पसारने लगा है।

Symptoms and Treatment

इसे भी पढ़िए….भारत में एक सौ दस में से एक बच्चा है ऑटिज्म से पीड़ित

Leave a Comment