कोरोना के बीच चुनाव का आगाज, यूपी में सात चरणों में होगा मतदान

Share

चुनाव की घोषणा,यूपी में सात चरणों में मतदान

नई दिल्ली : देश एक और कोरोना के तीसरी लहर को रोकने की तैयारियां के बीच  देश के पाँच राज्यों में चुनाव के तारीख की घोषणा कर दी गयी है । कोरोनो के बढ़ते मामलों के देखते हुए चुनाव आयोग के जल्द चुनाव समाप्त करने का फैसला किया है ।

कोरोना के बीच चुनाव का आगाज
abp

चुनाव कोरोनो प्रोटोकॉल के तहत कराया जाएगा ।  फिलहाल रैलियों और जनसभाओं पर 15 जनवरी तक रोक लगा दी गयी है । जिसे कोरोनो स्थिति को देखकर घटाया या बढ़ाया जाएगा ।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने बताया कि महामारी के मौजूदा हालात के बीच आयोग का लक्ष्य अधिकतम भागीदारी के साथ सुरक्षित चुनाव कराना है। इसके लिए पूरी तैयारी है आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव और गृह सचिव , विशेषज्ञों राज्यों के स्वास्थ्य सचिव के साथ बैठक कर स्थिति की समीक्षा की इसके बाद आयोग ने सुरक्षा प्रावधानों के साथ पांचों राज्यों में चुनाव करने का फैसला किया है।


उत्तर प्रदेश में सात चरण ,मणिपुर में दो चरण , पंजाब ,गोवा और उत्तराखंड में एक -एक चरण में होगा चुनाव

मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील चंद्रा ने बताया कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव सात चरण में होंगे।  7 मार्च को आखिरी मतदान होगा और 10 मार्च को सभी राज्यों के नतीजे आएंगे । यूपी में सभी चरण में मतदान होंगे जबकि मणिपुर में दो और पंजाब ,उत्तराखंड गोवा में एक ही चरण में मतदान होगा ।

  • यूपी के 403 सीटों के लिए 10 ,14 ,20 , 27 फरवरी और 3 व 7 मार्च को मतदान होंगे ।
  • उत्तराखंड के 70 पंजाब के 117 और गोवा के 40 सीटों के लिए 14 फरवरी को मतदान किए जाएंगे ।
  • मणिपुर के 60 सीटों के लिए दो चरणों में 27 फरवरी और 3 मार्च को मतदाता अपना मत डालेंगे ।

चुनाव पर कोरोना का असर

पाँच राज्यों की विधानसभा चुनाव पर कोरोना का असर साफ देखने को मिल रहा है । कोरोना के मद्देनजर प्रचार कर्फ्यू रहेगा । कोई भी प्रत्याशी रात 8:00 बजे से सुबह 8:00 बजे तक प्रचार नहीं कर सकेगा।  राष्ट्रीय व प्रदेश दलों के 30 स्टार प्रचारक होंगे छोटे दलों के 15 स्टार प्रचारक होंगे ।

चंद्रा ने बताया कोरोना के कारण शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने के लिए पोलिंग बूथों की संख्या भी बढ़ाई गई है । आयोग ने राज्यों के मुख्य सचिव से टीकाकरण तेज करने को कहा है ।

रैली, जनसभा, नुक्कड़ सभाओं , विजय जुलूस ,पदयात्रा बाइक व साइकिल रैलियों पर 15 जनवरी तक रोक रहेगी । स्थिति की समीक्षा होगी । राजनीतिक दल वर्चुअल समय करें घर-घर जाकर अधिकतम पागलों की प्रचार कर सकेंगे ।

उम्मीदवारों को पर्चा दाखिल करने के लिए चुनाव कार्यालय नहीं जाना होगा । अपराधिक रिकॉर्ड अन्य दस्तावेज जमानत राशि  भी सुविधा पोर्टल पर ऑनलाइन जमा करा सकेंगे ।  हालांकि यह वैकल्पिक व्यवस्था है ।

80 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों वह करोना संक्रमितों को घर से वोट डालने की सुविधा होगी । मतदान अधिकारी घर जाकर ऐसे मतदाताओं से वोट लेंगे।

आयोग ने इस बार मीडिया के लिए विशेष वोटर टर्नआउट एप पेश किया है ।  इसके तहत हर  विधानसभा सीट पर रियलटाइम मतदाताओं की संख्या को देखा जा सकेगा।  यह थोड़ी थोड़ी देर में अपडेट होगी इस ऐप को गूगल प्ले स्टोन से डाउनलोड किया जा सकता है ।

State Election Commission Uttar Pradesh, Lucknow

Uttar Pradesh chunav-2022 | उत्तर प्रदेश चुनाव-2022 : कौन बनेगा मुख्यमंत्री

Leave a Comment