संत अतुलानंद ने किया मेधावियों को सम्मानित

Share
संत अतुलानंद ने किया मेधावियों को सम्मानित
चित्र में विद्यालय परिसर के गणमान्य, छात्र व अतिथिगण | संत अतुलानंद ने किया मेधावियों को सम्मानित

‘विद्यार्थी ऐसा रोल मॉडल चुने जो भारतीय संस्कृति का वाहक हो“दिनांक 22 सितंबर 2022 सन्त अतुलानन्द कॅान्वेंट स्कूल, कोइराजपुर के ज्ञानपीठ सभागार में आयोजित ‘‘प्रतिभा सम्मान समारोह“ में आई0आई0टी0 (जे0ई0ई0) एवं नीट परीक्षा में सफल मेधावियों को उनकी सफलता के लिए सम्मानित किया गया। इस अलंकरण समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में डॉ विनोद कुमार मिश्रा (सीनियर साइंटिस्ट) कृषि विभाग, बी0एच0यू0 की उपस्थिति विद्यार्थियों के लिए विशेष प्रेरणादायी रही।

विशेष परिस्थितियों में अनुपस्थित रहने के कारण प्रोफेसर सच्चिदानंद त्रिपाठी (आई0आई0टी0कानपुर) का वॅाइस मैसेज विद्यार्थियों को प्राप्त हुआ, जिसमें उन्होने सकारात्मक अभिवृत्ति कठिन परिश्रम एवं स्वास्थ्य को सफलता का मूलमंत्र बताया। अन्य विशिष्ट अतिथियों में वाराणसी के प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानो से श्री सुनील सिंह(एम0डी0ओरिजेन्स), श्री विष्णु तिवारी(एम0डी0आकाश इंस्टीट्यूट), श्री गौतम जी(जे.आर.एस ट्यूटोरियल) एवं श्री गौरव मिश्रा जी(प्रवक्ता एवं मीडिया प्रभारी भाजपा) ने अपने उद्बोधन से विद्यार्थियों में राष्ट्र के प्रति निष्ठा एवं भारतीय संस्कृति के वाहक का नैतिक दायित्व-बोध जागृत किया।

संस्था की प्रधानाचार्या डॉ नीलम सिंह ने कार्यक्रम में पधारे हुए मुख्य अतिथि सहित सभी अभ्यागतों का हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन किया। जे0ई0ई0 एडवांस परीक्षा में आदित्य विक्रम सिंह के साथ आयुष सिंह, रोहित पाण्डेय, फराज अहमद, आदित्य प्रताप सिंह, सौरभ कुमार सोनकर, दीपेंद्र प्रताप सिंह एवं स्वर्णिमा ने अप्रतिम सफलता प्राप्त की तथा नीट परीक्षा परिणामों में सिद्धार्थ तिवारी, हर्षवर्धन सिंह के साथ-साथ तजल्ली फातिमा, रोहन गुप्ता, प्रांजल यादव, हिमांशु सिंह, मीनाक्षी गुप्ता, विवेक कुमार गौरव एवं आरती श्रीवास्तव ने संस्था का मान बढ़ाया।

इस अलंकरण समारोह में मेधावी छात्रों के अभिभावक भी अभिभूत एवं भावुक हो उठे। इन मेधावियों ने विद्यार्थियों से सफलता के मूलमंत्र के साथ-साथ अपनी चुनैतियों एवं अनुभवों को भी साझा किया। मुख्य अतिथि ने अपने उद्बोधन में कहा कि विद्यार्थी ऐसा रोल मॉडल चुने जो भारतीय संस्कृति का वाहक हो तथा उन्हें ईर्ष्या द्वेष एवं पाश्चात्य दुष्प्रभाव से बचकर सचेत रहने की अपील की।

संस्था सचिव श्री राहुल सिंह जी ने कहा कि जीवन में हार जीत से ज्यादा कर्म में ईमानदारी एवं आदर्शों के प्रति निष्ठा आवश्यक है। निदेशिका डॉ वन्दना सिंह ने अभिभावको के प्रति विशेष आभार प्रकट करते हुए विद्यार्थियों से अनवरत, लक्ष्यशील बने रहने की अपील की और सभी सफल विद्यार्थियों के आगामी भविष्य के लिए मंगलकामना की। प्रधानाचार्या

 17 Views

Leave a Comment